मणिपुर राज्य की राजधानी इम्फाल : ऐतिहासिक विरासतों से सजा खूबसूरत स्थल

पहाड़ी राज्यों में मणिपुर का इम्फाल शहर रेलवे से जुड़नेवाली होगी चौथी राजधानी

Jan 14, 2023 - 09:16
 22
मणिपुर राज्य की राजधानी इम्फाल : ऐतिहासिक विरासतों से सजा खूबसूरत स्थल
पहाड़ी राज्यों में मणिपुर का इम्फाल शहर रेलवे से जुड़नेवाली होगी चौथी राजधानी

इम्फाल (Imphal) भारत के मणिपुर राज्य की राजधानी है। इस ऐतिहासिक नगर के केन्द्र में भूतपूर्व मणिपुर राज्य की गद्दी, कंगला महल, के खण्डहर उपस्थित हैं। इम्फाल नगर इम्फाल पश्चिम ज़िले और इम्फाल पूर्व ज़िले दोनों में विस्तारित है, और शहर की अधिकांश आबादी इसके पश्चिमी भाग में निवास करती है। इम्फाल भारत सरकार द्वारा अनुसूचित स्मार्ट नगरों में से एक है।

यह मंदिर मणिपुर के पूर्व शासकों के महल के निकट ही है, व वैष्णवों का पावन तीर्थ स्थल है। यह दो स्वर्ण गुम्बदों सहित एक सरल किंतु सुंदर निर्माण है। इसमें एक पक्का प्रांगण तथा सभागार भि है। यहां के मुख्य देवता श्री राधा-कृष्ण हैं, जिनके साथ ही बलराम और कृष्ण के मंदिर एक ओर हैं, तो दूसरी ओर जगन्नाथ, बलभद्र एवं सुभद्रा के मंदिर हैं।

इंफाल के पोलोग्राउंड के पूर्वी ओर यह मीनार बीर टिकेंद्रजीत पार्क में खड़ी है। यह ब्रिटिश सेना के विरुद्ध १८९१ के युद्ध के मणिपुरी शहीदों की याद में बनी है।

यह मीनार फोटो खींचने वालों का मुख्य आकर्षण है। 

द्वितीय विश्वयुद्ध में मारे गए भारतीय व ब्रिटिश सैनिकों की समाधियाँ व कब्रें। 

९२१ मीटर की ऊंचाई पर यह सुंदर पिकनिक स्थल इंफ़ाल से १६ किलोमीटर दूर है।

इम्फाल मणिपुर राज्य की राजधानी एवं मणिपुर मध्य ज़िले का प्रशासनिक मुख्यालय, पूर्वोत्तर भारत में मणिपुर नदी घाटी में 760 मीटर की ऊँचाई पर स्थित है।


इतिहास
ब्रिटिश शासन के अधीन होने से पहले इम्फाल मणिपुर के राजाओं का क्षेत्र था। 1944 में यहाँ द्वितीय विश्व युद्ध में, बर्मा मोर्चे पर आंग्ल-भारतीय सेना ने जापानियों पर महत्त्वपूर्ण सामरिक विजय पाई थी।


उद्योग और व्यापार
इम्फाल शहर एक प्रमुख व्यापार केन्द्र है और यह बुनाई, पीतल व तांबे का सामान तथा अन्य कुटीर उद्योगों के लिए जाना जाता है। शहर के मध्य में ख्वैरम बाज़ार है। यहाँ की बड़ी दुकानें केवल महिलाएं चलाती है। और यह हथकरघा एवं हस्तशिल्प वस्तुओं के लिए प्रसिद्ध है।


यातायात और परिवहन
हवाई मार्ग
इम्फाल में हवाई अड्डा है, जहाँ से कोलकाता[1], 650 किलोमीटर पश्चिम- दक्षिण पश्चिम तथा गुवाहाटी के लिए नियमित विमान सेवाएँ उपलब्ध हैं।

रेल मार्ग
इम्फाल असम के पूर्वोत्तर रेलमार्ग पर दीमापुर और जिरीबाम रेलवे स्टेशन है। इन स्टेशनों से इम्फाल तक पहुंचने के लिए बस या टैक्सी ली जा सकती है।

सड़क मार्ग
इम्फाल म्यांमार[2] से पक्की सड़कों द्वारा जुड़ा है।

शिक्षण संस्थान
इम्फाल शहर में कई शैक्षणिक संस्थान हैं, जिनमें सेंटर फ़ॉर इलेक्ट्रॉनिक्स, डिज़ाइन ऐंड टेक्नोलॉजी ऑफ़ इंडिया, गवर्नमेंट कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग गवर्नमेंट पॉलीटेक्निक, रीजनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ मेडिसिन, डी. एम. कॉलेज ऑफ़ साइंस, जी.पी. वीमॉंस कॉलेज, आइडियल गर्ल्स कॉलेज, मयै लांबी कॉलेज और मणिपुर कॉलेज शामिल हैं। इम्फाल में मणिपुर विश्वविद्यालय भी है। इम्फाल राज्य का प्रशासनिक शैक्षणिक एवं सांस्कृतिक केन्द्र है।


मंडल
इम्फाल को तीन स्पष्ट मंडलों के कारण नियोजित शहर माना जाता है-

नगरपालिका क्षेत्र।
छावनी क्षेत्र।
अन्य क्षेत्र।

पर्यटन
श्री गोविन्द जी हिन्दू वैष्णवों के लिए एक सुन्दर स्वर्ण मंदिर है। पोलो मैदान के पास स्थित संग्रहालय अपने परिधानों युद्ध सामग्रियों और दस्तावेज़ों के संग्रह के लिए प्रसिद्ध है। टिकेंद्रजीत उद्यान स्थित शहीद मीनार उन शहीदों की स्मृति में बनाई गई है। जिन्होंने 19 वीं सदी के अंत में अंग्रेज़ो से लड़ते हुए अपने प्राण न्योछावर किए थे।


जनसंख्या
2001 की जनगणना के अनुसार इंफाल पश्चिम की जनसंख्या 43,9,532 है।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow