दाल ढोकली रेसिपी

Jan 11, 2023 - 15:07
 11
दाल ढोकली रेसिपी
दाल ढोकली रेसिपी

दाल ढोकली एक परम्परागत गुजराती रेसिपी है जिसे मुख्य तौर पर दाल और गेहूं के आटे से बनाया जाता है। ज़रा सी मीठी और मसालेदार इस रेसिपी को बनाने के लिए ढोकली के टुकड़ों को थोड़ी सी गाढ़ी दाल में पकाया जाता है। दाल में डाले गए मसालों और कुरकुरे मूंगफली के दानो की वजह से दाल ढोकली का स्वाद और भी बढ़ जाता है। यह रेसिपी बनाने में आसान तो है ही, साथ में पौष्टिक भी है और इसे खाने में अकेला परोसा जाए तो भी पेट भर जाता है।

सामग्री:

1/2 कप तूवर दाल (अरहर दाल)
3 टेबलस्पून मूंगफली
1/2 कप गेहूं का आटा + छिड़कने के लिए
1/2 टीस्पून अजवाइन (यदि आप चाहें)
1 टेबलस्पून बेसन
1/4 टीस्पून + 1/4 टीस्पून हल्दी पाउडर
1/2 टीस्पून + 1/2 टीस्पून लाल मिर्च पाउडर
1/2 टीस्पून धनिया पाउडर
1/2 टीस्पून राई
1 टीस्पून जीरा
एक चुटकी हींग
1 सुखी लाल मिर्च, 2 टुकड़ों में बटी हुई
8-10 कडीपत्ता
3 टीस्पून निम्बू का रस
2-21/2 टीस्पून चीनी
3 टीस्पून तेल
11/2 कप + 3 कप पानी
नमक, स्वादानुसार
2 टेबलस्पून बारीक कटा हुआ हरा धनिया, सजावट के लिए

विधि:

01. तूवर दाल को पानी से धोकर 3/4 लीटर वाले स्टील या एल्युमीनियम के प्रेशर कुकर में 11/2 कप पानी और नमक के साथ डालिए। एक छोटी कटोरी में मूंगफली लीजिये और उसे कुकर में दाल के ऊपर रखिये। कूकर का ढक्कन बंद करके 3 सीटी बजने तक मध्यम आँच पर दाल को उबलने दीजिये। कुकर को गैस पर से हटाकर प्रेशर खत्म होने तक लगभग 5-7 मिनट के लिए रहने दीजिये।

02. जब दाल पक रही हो, उसी दौरान ढोकली के लिए आटा तैयार कर लीजिये। एक चौड़े मुह वाले बर्तन में 1/2 कप गेहूं का आटा, बेसन, अजवाइन, 1/4 टीस्पून हल्दी पाउडर, 1/2 टीस्पून लाल मिर्च पाउडर, 1/2 टीस्पून धनिया पाउडर, 1 टीस्पून तेल और नमक लीजिये। थोड़ी-थोड़ी मात्रा में पानी डालते हुए पराठे के आटे जैसा मुलायम आटा गूंथ लीजिये। एक कपडे से ढंककर आटे को 10 मिनट के लिए रहने दीजिये।

03. कुकर का ढक्कन खोलकर उसमे से मूंगफली की कटोरी निकाल लीजिये।

04. दाल को एक बड़े बाउल में निकाल लीजिये या फिर कुकर में ही ब्लेंडर की मदद से पीस लीजिये। 2 कप पानी डालकर 5-10 सेकंड के लिए दाल को वापस पीस लीजिये।

05. एक बड़ी कडाही में 2 टीस्पून तेल गरम करके उसमे राई डालिए। जब राई फूटने लग जाए तब जीरा, हींग, सुखी लाल मिर्च और कड़ीपत्ता डालकर जीरे को तड़कने दीजिये। 1/4 टीस्पून हल्दी पाउडर और 1/2 टीस्पून लाल मिर्च पाउडर डालकर अच्छे से मिला लीजिये।

06. पीसी हुई दाल, 1 कप पानी, उबली हुई मूंगफली, निम्बू का रस, चीनी और नमक डालकर मध्यम आँच पर उबलने दीजिये। जब मिश्रण उबलने लगे तब आँच को धीमा कर दीजिये और 5-7 मिनट के लिए पकने दीजिये।

07. इस दौरान आटे को 4 समान भागों में बाँटकर उनकी गोल लोइयां बना लीजिये। एक थाली या कटोरी में आधा कप जितना सुखा गेहूँ का आटा लीजिये। अब एक लोई लेकर उसे सूखे गेहूँ के आटे से लपेट लीजिये और चकला-बेलन की मदद से 7-8 इंच व्यास की पतली रोटी बेल लीजिये। इसी तरह बाकी बची लोइयां की भी रोटीयाँ बेल लीजिये।

08. एक रोटी को चकले पर लेकर उसको चाकू या कटर की मदद से छोटे-छोटे चौकोर टुकडो में काट लीजिये। ये टुकड़े ढोकली के नाम से पहचाने जाते है।

09. आँच को मध्यम कर दीजिये और ढोकली को (एक बार में 12-14 टुकड़े) उबलती हुई दाल में डालकर 1-2 मिनट के लिए पकाइए। 1-2 मिनट बाद बाकी बची ढोकली में से 12-14 टुकड़े डाल दीजिये। बीच-बीच में कलछी से चलाते रहिये।

10. इसी प्रक्रिया से बाकी बची रोटीयों की ढोकली बना लीजिये और दाल में डाल दीजिये। सारी ढोकली को दाल में डालने के बाद तब तक पकाइए जब तक ढोकली पक न जाए। इसमें लगभग 8-10 मिनट लगेंगे। बीच-बीच में दाल को कलछी से चलाना मत भूलिए।

11. गैस बंद करके दाल ढोकली को एक सर्विंग बाउल में निकाल लीजिये और हरे धनिये से सजाकर गरमा गरम परोसिये।

सुझाव और विविधता:

आप अपने स्वाद के अनुसार निम्बू का रस और चीनी की मात्रा बदल सकते है।
ठंडी पड़ने पर दाल गाढ़ी हो जायेगी। इसलिए इसे गरम ही परोसिये।
स्टेप-9 में बहुत सारे टुकड़े एक साथ डालने से वह चिपक सकते है। इसलिए एक बार में 12-14 ढोकली ही डालें।

परोसने के तरीके:

गुजराती दाल ढोकली को दही के साथ दोपहर या रात के खाने में परोसिये। इसे उबले हुए चावल, पापड़ और छाछ के साथ भी परोसा जा सकता है। दाल ढोकली में रोटी के साथ दाल के भी गुण है और इसी वजह से यह बीमार लोगों के लिए और उन लोगों के लिए अच्छी है जिनके दांत में दर्द है।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow

Sujan Solanki Sujan Solanki - Kalamkartavya.com Editor