बासुंदी रेसिपी | बासुंदी मिठाई कैसे बनाएं

Jan 13, 2023 - 15:26
 11
बासुंदी रेसिपी |  बासुंदी मिठाई कैसे बनाएं
बासुंदी रेसिपी | बासुंदी मिठाई कैसे बनाएं

इलायची के स्वाद वाली और सूखे मेवों से भरपूर बासुंदी एक बढ़िया मिठाई हैं। यह केलेरी से भरपूर, मीठा गाढा दूध हैं जिसे फूल फेट वाले दूध से बनाया जाता हैं। इसे गुजरात, महाराष्ट्र और दूसरे बहुत सारे भारतीय राज्यों में, खाने में मसाला पूरी के साथ एक मिठाई की तरह परोसा जाता हैं लेकिन आप इसे जब चाहे तब किसी भी समय खा सकते हैं। आप मेहमानों के लिए या डीनर में कुछ मीठा और खास बनाना चाहते हैं, तो इस स्टेप-बाय-स्टेप फोटो रेसिपी को अनुसरें।

सामग्री:

1 लीटर (33-34 औंस) फूल फेट दूध
1/4 कप चीनी
1/4 टीस्पून इलायची का पाउडर
5-7 बादाम, लंबाई में कटी हुई
4 पिस्ता, लंबाई में कटा हुआ
4-5 केसर की किस्में, सजाने के लिए

विधि:

एक गहरी मोटी सतह वाली या नोन-स्टीक पैन/कडाही लें और उसमें दूध डालें। उसे मध्यम आंच पर उबाल आने के लिए रखें।


जब दूध उबलने लगे, आंच धीमी कर दें और उसे आधा होने तक उबालें। उसे चम्मच से बीच बीच में (लगभग हर -3 मिनट के बाद) हिलाते रहें।


उसमें इलायची पाउडर और चीनी डालें।


उसे धीमी आंच पर चम्मच से लगातार चलाते हुए 5 मिनट के लिए पकाएं।


गैस बंध कर दें। उसे एक सर्विंग बाउल में निकालें और बादाम और पिस्ता की स्लाइस और केसर की किस्मों से सजाएं। उसे अपनी पसंद के अनुसार गरम या ठंडी परोसें।

सुझाव और विविधता:

अच्छे रंग और खुश्बू के लिए स्टेप-3 में 5-6 केसर की किस्में डालें।
इसे बनाने के लिए कभी भी पतली सतह वाले पैन/कडाही का उपयोग मत करें अन्यथा दूध जल जाएगा और पैन/कडाही की सतह पर चिपक जाएगा।
आपको जितना मीठा स्वाद पसंद हो उसके अनुसार चीनी डालें।
स्वादिष्ट सीताफल बासुंदी बनाने के लिए उसमें परोसने से पहले 1/ कप सीताफल का पल्प डालें और अच्छे से मिलाएं।

परोसने के तरीके: आम तौर पर, ठंडी बासुंदी दिवाली जैसे भारतीय त्योहारों पर डिजर्ट की तरह या मिठाई की तरह खाने के साथ लंच या डीनर में परोसी जाती हैं। हालांकि, ऐसे बहुत सारे विकल्प हैं जिसमें यह ठंडा और क्रिमी मीठा दूध खाया जा सकता हैं। जैसे कि, पायासम, खीर, गाजर का हलवा, सेमिया खीर जैसी स्वादिष्ट मिठाई बनाने के लिए दूध के बदले बासुंदी का उपयोग करें। इसे होममेड कुल्फी बनाने के लिए फ्रिजर में फ्रिज करें। इतना ही नहीं; इसका उपयोग गुलाब जामुन और रस मलाई में सिरप की तरह भी किया जा सकता हैं।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow

Sujan Solanki Sujan Solanki - Kalamkartavya.com Editor