अमेरिका का रहस्यमय सैन्य ठिकाना एरिया 51

Jan 8, 2023 - 15:01
 2
अमेरिका का रहस्यमय सैन्य ठिकाना एरिया 51
अमेरिका का रहस्यमय सैन्य ठिकाना एरिया 51

एरिया 51 एक सैन्य अड्डे का उपनाम है जो पश्चिमी संयुक्त राज्य अमेरिका में नेवादा के दक्षिण में लास वेगास शहर से 83 मील उत्तर-उत्तर पश्चिम में स्थित है। ग्रूम झील के पश्चिमी तट पर इसके केंद्र में अवस्थित है एक विशाल गोपनीय सैन्य हवाई क्षेत्र. इस सैन्य अड्डे का प्राथमिक उद्देश्य प्रयोगात्मक विमानों तथा हथियार प्रणालियों की जांच और विकास को समर्थन देना है।

यह अड्डा अमेरिकी एयर फोर्स के विशाल नेवादा परीक्षण और प्रशिक्षण सीमा के भीतर स्थित है। हालांकि सीमा पर सुविधाओं का रखरखाव नेल्लिस वायु सेना अड्डे के 99वें एयर बेस विंग द्वारा किया जाता है फिर भी ग्रूम झील के दक्षिणपश्चिमी भाग के 186 मील (300 कि॰मी॰)आस-पास मोजावे मरूस्थल में एडवर्ड्स वायु सेना अड्डे पर ग्रूम पर उपस्थित सुविधाएं संभवतः वायु सेना उड़ान परीक्षण केंद्र (AFFTC) के अनुबंध के रूप में काम करतीं हैं और इस कारण यह अड्डा वायु सेना फ्लाइट परीक्षण केंद्र (टुकड़ी 3) के रूप में जाना जाता है।

इस सुविधा के लिए प्रयुक्त अन्य नामों में शामिल हैं ड्रीमलैंड, पैराडाइस रान्च, होम बेस, वाटरटाऊन स्ट्रिप, ग्रूम लेक और हाल ही में दिया गया नाम होमी एअरपोर्ट. यह क्षेत्र नेल्लिस सैन्य अभियान क्षेत्र का हिस्सा है और मैदान के आस-पास के प्रतिबंधित हवाई क्षेत्र (R -4808 N) के रूप में निर्दिष्ट है जिसे यहां के सैन्य विमान चालक "द बॉक्स" के नाम से जानते हैं।

​एरिया-51 क्या है?

एरिया-51 अमेरिका के नेवादा में लास वेगस से 133 किमी दूर स्थित है। ये अमेरिका वायुसेना की टेस्ट और ट्रेनिंग रेंज फैसिलिटी है, जो हाई सिक्योरिटी से लैस है। माना जाता है कि इस एयरबेस पर आमतौर से हथियारों का परीक्षण या नए विमानों की ट्रेनिंग होती है। 1955 में इस साइट का अधिग्रहण अमेरिकी वायुसेना ने किया था। 2013 तक CIA ने कभी भी इस फैसिलिटी के अस्तित्व को स्वीकार नहीं किया था। 2005 में सूचना की स्वतंत्रता अधिनियम के अनुरोध के बाद उन्होंने इसे स्वीकार किया था।

​एलियन स्पेसक्राफ्ट की थ्योरी

इस बेस को कभी भी सीक्रेट बेस घोषित नहीं किया गया, लेकिन एरिया-51 में क्या होता है और यहां किस तरह की रिसर्च होती है, इसके बारे में सभी जानकारी गुप्त है। कॉन्सपिरेसी थ्योरिस्ट मानते हैं कि इस फैसलिटी में एक क्रैश हुआ एलियन स्पेस क्राफ्ट है। इंजीनियर रिवर्स इंजीनियरिंग के जरिए इसे बनाने में लगे हैं। इस 1950 की रोसवेल दुर्घटना से जोड़ा जाता है।

​एयरफोर्स के विमानों का टेस्टिंग ग्राउंड

ये बेस 1950 के दशक में पहले U-2 और बाद में B-2 स्टील्थ बॉम्बर का टेस्टिंग ग्राउंड रहा है। डीक्लासीफाइड डॉक्यूमेंट्स का कहना है कि मूल रूप से ये आर्मी एयर कॉर्प्स के पायलटों के लिए हथियारों को टेस्ट करने की जगह है। शीत युद्ध के दौरान उच्च ऊंचाई वाले U-2 जासूसी विमान और हथियार प्रणालियों को भी यहां टेस्ट किया गया था। वर्तमान में अभी भी एरिया-51 का उपयोग एक रहस्य बना हुआ है।

​एलियन से जुड़ा है एरिया-51 का रहस्य

रहस्यमय एरिया-51 नेवादा परीक्षण रेंज का हिस्सा है। ये यूएफओ से जुड़े सिद्धांतों का केंद्र है। तथाकथित रोसवेल क्रैश इतिहास की सबसे चर्चित और विवादास्पद UFO थ्योरी में से एक है। जुलाई 1947 में एक रहस्यमय मलबा मिला था। बाद में एक अखबार में लिखा गया कि एक उड़न तश्तरी न्यू मैक्सिकों में क्रैश हुई है। इस क्रैश के बाद से ही एरिया-51 को इससे जोड़ कर देखा जाता रहा है।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow

Sujan Solanki Sujan Solanki - Kalamkartavya.com Editor